Connect with us

ख़बर छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ में 2 रुपए किलो गोबर खरीदेगी सरकार, देश में अपनी तरह की पहली ‘गोधन न्याय योजना’ की हुई शुरुआत

Published

on

रायपुर: छत्तीसगढ़ देश का पहला ऐसा राज्य बन गया है, जो बड़े पैमाने पर गोबर खरीदेगा। छत्तीसगढ़ में मनाए जाने वाले हरेली त्योहार के अवसर पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सांकेतिक रूप से गोबर खरीद कर आज ‘गोधन न्याय योजना’ की शुरुआत की। इसके तहत सरकार पशुपालकों से 2 रुपए किलो की दर से गोबर खरीदेगी और फिर उससे जैविक खाद तैयार किया जाएगा।

R.O. No. 12338/ 107

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने निवास पर धर्म पत्नी मुक्तेश्वरी बघेल और परिवार के सदस्यों के साथ गोधन और कृषि यंत्रों की पूजा-अर्चना कर योजना की शुरुआत की। इस अवसर पर उन्होंने प्रदेश वासियों को नए साल के पहले त्योहार की बधाई देते हुए कहा कि यह योजना संकट के समय किसानों और पशुपालकों के लिए वरदान साबित होगी और ग्रामीण अर्थव्यवस्था के लिए संजीवनी बनेगी।

बघेल ने कहा कि गोधन न्याय योजना से पशुपालकों की आय में वृद्धि तो होगी ही, पशुधन की खुली चराई पर भी रोक लगेगी। जैविक खाद के उपयोग को बढ़ावा मिलने से रासायनिक खाद के उपयोग में कमी आएगी। खरीफ और रबी फसल की सुरक्षा सुनिश्चित होने से द्विफसलीय क्षेत्र में इजाफा होगा।  भूमि की उर्वरता में सुधार होगा और विष रहित खाद्य पदार्थों की उपलब्धता बढ़ेगी, इससे पोषण का स्तर और सुधरेगा।

प्रदेश के गांवों में सुराजी गांव योजना पहले ही लागू की जा चुकी है, जिसके तहत पांच हजार से ज्यादा गोठानों की स्वीकृति दी जा चुकी है। इनमें से 2785 गोठान बनकर तैयार हो चुके हैं, शेष का निर्माण तेजी से किया जा रहा है। गोधन न्याय योजना इन्हीं गोठानों के माध्यम से संचालित होगी। राज्य सरकार चरणबद्ध रूप से गौठानों का विस्तार करते हुए प्रदेश की सभी 11630 ग्राम पंचायतों और सभी 20 हजार गांवों में गौठान निर्माण का लक्ष्य रखा है।

किसानों और पशुपालकों से गोठान समितियों द्वारा दो रुपए प्रति किलो की दर से गोबर की खरीदी की जाएगी, जिससे महिला स्व सहायता समूहों द्वारा वर्मी कंपोस्ट तैयार किया जाएगा। तैयार वर्मी कंपोस्ट को 8 रुपए प्रति किलो की दर से सरकार के द्वारा खरीदा जाएगा। खरीदे गए गोबर से अन्य सामग्री भी तैयार की जाएंगी।

ख़बर छत्तीसगढ़

CG News: मोबाइल के लिए जलाशय से पानी बहाने का मामला, फूड इंस्पेक्टर, SDO समेत 3 पर FIR

Published

on

CG News: FIR on 3 including food inspector in mobile case

CG News(Raipur): कांकेर(Kanker) जिले के पखांजुर के परलकोट जलाशय से फूड इंस्पेक्टर का मोबाइल निकालने के लिए 21 लाख लीटर पानी बहाने के मामले में शासन ने बड़ी कार्रवाई की है। फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास, जल संसाधन विभाग के एसडीओ राम लाल धीवर और सब इंजीनियर छोटे लाल ध्रुव पर पखांजुर थाने में एफआईआर दर्ज की गई है। इस मामले में फूड इंस्पेक्टर विश्वास और एसडीओ धीवर को पहले ही निलंबित किया जा चुका है।

R.O. No. 12338/ 107

बता दें कि 21 मई को परलकोट जलाशय में पिकनिक मनाने गए फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास का मोबाइल जलाशय में गिर गया था। इसके बाद ग्रामीणों और गोताखोरों के मोबाइल ढूंढ़ने में नाकाम रहने पर फूड इंस्पेक्टर ने पंप लगाकर 4 दिनों में जलाशय का 4 हजार 104 क्यूबिक मीटर पानी अनाधिकृत रूप से बहा दिया गया था। इस मामले के तूल पकड़ने के बाद फूड इंस्पेक्टर को निलंबित कर रिकवरी की कार्रवाई भी की गई है। जबकि एसडीओ धीवर को पहले कारण बताओ नोटिस दिया गया था। जिन्हें आज निलंबित कर दिया गया है। इसके अलावा फूड इंस्पेक्टर राजेश विश्वास, एसडीओ धीवर और सब इंजीनियर के खिलाफ आज एफआईआर की कार्रवाई भी की गई है।

CG News: मुख्यमंत्री ने बेरोजगारी भत्ते की दूसरी किश्त जारी की, एक लाख से ज्यादा के खातों में ट्रांसफर की राशि

Continue Reading

ख़बर छत्तीसगढ़

CG News: मुख्यमंत्री ने बेरोजगारी भत्ते की दूसरी किश्त जारी की, एक लाख से ज्यादा के खातों में ट्रांसफर की राशि

Published

on

CG News: CM Baghel released the second installment of unemployment allowance

CG News: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने निवास कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में बेरोजगारी भत्ता योजना के एक लाख 5 हजार 395 हितग्राहियों के खाते में 32 करोड़ 35 लाख 25 हजार रुपए की राशि ऑनलाइन ट्रांसफर की। इन हितग्राहियों में 66 हजार 185 हितग्राहियों को, जिन्हें माह अप्रैल में प्रथम किश्त की राशि जारी की गई थी, उन्हें आज द्वितीय किश्त के रूप में 16 करोड़ 54 लाख 62 हजार 500 रुपए ट्रांसफर किए गए। वहीं 24 हजार 15 हितग्राहियों को जिन्होंने 30 अप्रैल 2023 तक आवेदन किया था, उन्हें माह अप्रैल और मई दोनों माह की बेरोजगारी भत्ते की किश्त के रूप में 12 करोड़ 75 हजार रुपए की राशि जारी की गई। इसी प्रकार 15 हजार 195 हितग्राहियों को जिन्होंने मई 2023 में आवेदन किया था, उन्हें आज प्रथम किश्त की राशि के रूप में 3 करोड़ 79 लाख 87 हजार 500 रुपए की राशि जारी की गई। बेरोजगारी भत्ता योजना के हितग्राहियों को प्रथम और द्वितीय किश्त के रूप में कुल 48 करोड़ 89 लाख 87 हजार 500 रुपए की राशि जारी की गई है।

R.O. No. 12338/ 107

ज्यादा खुशी तब होगी जब आपके हाथ में रोजगार होगा-मुख्यमंत्री बघेल

बेरोजगारी भत्ते (Chhattisgarh Berojgari Bhatta Yojana) की दूसरी किश्त जारी करते हुए मुख्यमंत्री बघेल ने युवाओं से कहा कि आपको बेरोजगारी भत्ते से सहायता मिल रही है, लेकिन मुझे बेरोजगारी भत्ता देने से ज्यादा खुशी तब होगी जब आपके हाथ में रोजगार होगा। सरकारी नौकरी के लिए हम लगातार वेकेंसी निकाल रहे हैं इसके साथ ही आपको कौशल प्रशिक्षण भी दे रहे हैं ताकि आप अपना काम भी शुरू कर सकें। बेरोजगारी भत्ता एक छोटा सा सहयोग भर है, जिसके माध्यम से आप अपना लक्ष्य प्राप्त कर सकें।

बेरोजगारी भत्ता योजना में बालोद जिला अव्वल

बेरोजगारी भत्ता योजना के तहत बालोद जिले में सर्वाधिक 8 हजार 832 हितग्राहियों को बेराजगारी भत्ते की किश्त दी गई। दुर्ग जिले में 8 हजार 664, बिलासपुर जिले में 5 हजार 809, धमतरी जिले में 5 हजार 751, जांजगीर-चांपा जिले में 5 हजार 395, रायपुर जिले में 4 हजार 501, कांकेर में 4 हजार 524, राजनांदगांव जिले में 4 हजार 494, बलौदा बाजार जिले में 4 हजार 307, कबीरधाम जिले में 4 हजार 168, महासमुंद जिले में 4 हजार 284, मुंगेली जिले में 4 हजार 232, बेमेतरा जिले में 3 हजार 875, गरियाबंद जिले में 3 हजार 419, सक्ति जिले में 3 हजार 295, सारंगढ़-बिलाईगढ़ जिले में 3 हजार 138 हितग्राहियों को बेरोजगारी भत्ते की किश्त अंतरित की गई है।

इसी तरह बस्तर जिले में 2 हजार 461, कोण्डागांव जिले में 2 हजार 935, कोरबा जिले में 2 हजार 624, जशपुर जिले में 2 हजार 573, रायगढ़ जिले में 2 हजार 306, सूरजपुर जिले में 2 हजार 290, सरगुजा जिले में 2 हजार 997, बलरामपुर जिले में 1 हजार 911, खैरागढ़-छुईखदान-गंडई जिले में एक हजार 245, मोहला-मानपुर-अंबागढ़ चौकी जिले में एक हजार 230, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही जिले में 951, मनेन्द्रगढ़-चिरमिरी-भरतपुर जिले में 950, कोरिया जिले में 892, दंतेवाड़ा में 468, बीजापुर जिले में 377, नारायणपुर जिले में 369, सुकमा जिले में 376 हितग्राहियों के खाते में बेरोजगारी भत्ते की किश्त अंतरित की गई।

Continue Reading

ख़बर छत्तीसगढ़

CG News: राष्ट्रीय रामायण महोत्सव की तैयारियां पूरी, अरण्य कांड की थीम पर सज रहा मंच

Published

on

CG News: Preparations for National Ramayana Festival completed

CG News (Raigarh): ऐतिहासिक रामलीला मैदान में आयोजित होने वाले राष्ट्रीय रामायण महोत्सव के रंग में रायगढ़ पूरी तरह रंग गया है। युद्धस्तर पर चलने वाली प्रशासनिक तैयारियों के साथ ही आम जनता में भी महोत्सव को लेकर गजब का उत्साह नजर आ रहा है। आयोजन की सबसे खास बात यह है कि इसकी थीम रामायण के अरण्य कांड पर आधारित है। इसके चलते मंच को भी अरण्य कांड की थीम पर ही सजाया जा रहा है। मुख्यमंत्री बघेल की पहल पर आयोजित इस महोत्सव में अरण्य कांड पर आधारित रामकथा की प्रस्तुति राष्ट्रीय-अंतर्राष्ट्रीय दलों द्वारा होगी। अरण्य कांड तुलसीदास कृत रामचरितमानस और वाल्मीकि रामायण का ऐसा हिस्सा है जिसमें भगवान श्रीराम के वनवास के दिनों का वृतांत है, जिसमें माता सीता और भ्राता लक्ष्मण ने भी उनके साथ वनवास किया था।

R.O. No. 12338/ 107

छत्तीसगढ़ में ऐसी 9 पुण्यभूमि हैं, जो राम-वन-गमन परिपथ में शामिल हैं, जिस पथ से श्रीराम गुजरे थे। दंडक वन में हुई इन घटनाओं को वाल्मीकि रामायण और इसके बाद अनेक भाषाओं में लिखी गई रामायण में अंकित किया गया है। साथ ही विभिन्न कलारूपों में भी यह शामिल हैं। महोत्सव में इंडोनेशिया और कंबोडिया के रामायण दलों द्वारा मंचन भी होगा। कंबोडिया के अंकोर वाट मंदिर और इंडोनेशिया के जावा के मंदिरों में रामायण के रूपों का अंकन किया गया है। इसी के साथ इन्हें ललित कलाओं में भी प्रस्तुत किया गया। रामायण महोत्सव के दौरान दक्षिण पूर्वी एशिया के इन देशों में रामायण के प्रचलित रूपों की झलक मिलेगी।

अंतरराज्यीय रामायण मंडलियों के मध्य होगी प्रतिस्पर्धा

रामकथा की बहुत सुंदर प्रस्तुति भारत के अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग कलारूपों में होती है। सभी कलारूप बहुत आकर्षक है और सुंदर रामलीला प्रस्तुत करते हैं। विभिन्न राज्यों में कुछ रामायण मंडलियों ने अपनी खास प्रस्तुति से अपना अलग ही मुकाम बनाया है। अरण्य कांड पर इनकी भव्य प्रस्तुति आयोजन की सबसे खास विशेषता होगी। पहले दिन अरण्य कांड पर उत्तराखंड, कर्नाटक, छत्तीसगढ़ राज्यों में प्रतियोगिता होगी। दूसरे दिन झारखंड, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, ओडिशा, असम, हिमाचल प्रदेश, गोवा और छत्तीसगढ़ राज्य के बीच प्रतियोगिता होगी। समापन समारोह पर विजेता दलों को पुरस्कृत किया जाएगा।

कंबोडिया और इंडोनेशिया के दल देंगे प्रस्तुति

महोत्सव के दौरान रामकथा का विस्तृत फलक देखने दर्शकों को मिलेगा। सागर पार इंडोनेशिया और कंबोडिया में फैले राम कथा के विविध रूपों की झलक दर्शकों को मिलेगी। रामकथा इन देशों के कलाकारों ने अपने खास कलारूपों में प्रस्तुत करते हुए अपनी धरोहर को अब तक कायम रखा है। रामायण महोत्सव के दौरान इन कलारूपों को देखना दर्शकों के लिए चकित करने वाला अनुभव होगा।

सामूहिक हनुमान चालीसा का होगा पाठ

महोत्सव के दौरान तीनों दिन सामूहिक हनुमान चालीसा का पाठ होगा। समापन समारोह के दिन केलो महाआरती और दीपदान का आयोजन भी होगा। कार्यक्रम के औपचारिक शुरूआत के पश्चात हनुमान चालीसा का सामूहिक पाठ होगा। हनुमान चालीसा का पाठ स्थानीय कलाकारों एवं पुरोहितों के द्वारा किया जाएगा। इस मौके पर विदेशी एवं अंतरराज्यीय कलाकारों द्वारा मार्च पास्ट भी किया जाएगा।

दिग्गज कलाकार लेंगे हिस्सा

राष्ट्रीय स्तर के दिग्गज कलाकार कार्यक्रम में हिस्सा लेंगे। समारोह के पहले दिन राष्ट्रीय ख्याति प्राप्त इंडियन आइडल कलाकार शण्मुख प्रिया तथा सारे गामा के कलाकार शरद शर्मा अपनी प्रस्तुति देंगे। कार्यक्रम के दूसरे दिन बाबा हंसराज रघुवंशी तथा लखबीर सिंह लक्खा भजन संध्या की प्रस्तुति करेंगे। समापन समारोह के दिन मैथिली ठाकुर भजन संध्या की प्रस्तुति करेंगी। अंतिम कार्यक्रम कुमार विश्वास का अपने-अपने राम म्यूजिक नाइट होगा।

Continue Reading

ख़बर छत्तीसगढ़

Raipur News: मुख्यमंत्री बने थे जिनके मेहमान, अब मुख्यमंत्री बने उनके मेजबान

Published

on

Raipur News: The Chief Minister was whose guest, now the Chief Minister has become his host

Raipur News: भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रदेश की विधानसभाओं में लोगों से प्रत्यक्ष मुलाकात कर शासकीय योजनाओं के क्रियान्वयन की जमीनी स्थिति जानी थी। साथ ही विधानसभा क्षेत्र के ही ग्रामीण परिवारों के साथ भोजन भी किया था। इन ग्रामीण परिवारों ने पारंपरिक तरीकों से मुख्यमंत्री का स्वागत किया था और उनसे भोजन के दौरान सुख-दुख की चर्चा की थी। मुख्यमंत्री ने इन ग्रामीण परिवारों को अपने घर भोज पर आमंत्रित किया। पिछली बार जिन ग्रामीणों के पहुना मुख्यमंत्री बने थे, वे ग्रामीण अब मुख्यमंत्री के पहुना बन रहे हैं। रायपुर संभाग से इसकी शुरूआत हुई है। रविवार 28 मई को रायपुर संभाग के 19 विधानसभाओं से ग्रामीण परिवार और सरपंच रात्रि भोज करने मुख्यमंत्री निवास आए। इस मौके पर नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया समेत संबंधित क्षेत्र के विधायकगण उपस्थित थे।

R.O. No. 12338/ 107

Raipur News: The Chief Minister was whose guest, now the Chief Minister has become his host

मुख्यमंत्री बघेल बने ग्रामीणों और सरपंचों के मेजबान

मुख्यमंत्री ने भेंट-मुलाकात के अनुभवों को किया साझा

मुख्यमंत्री निवास में सभी मेहमानों का सीएम बघेल ने स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर कहा कि जब मैं आप मन के पहुना रहेंव, तब आप मन ह बढ़िया स्वागत करेंव अउ बहुत बढ़िया भोजन कराएव, ये दरी आप मोर पहुना हव। इस तरह मुख्यमंत्री ने अतिथियों से कहा कि भेंट-मुलाकात के दौरान मेरे सबसे अच्छे अनुभवों में आप लोगों के घरों में खाना, खाना रहा। हम सभी छत्तीसगढ़ की परंपरा के मुताबिक जमीन पर बैठे। घर की महिलाओं ने हमें भोजन परोसा। भोजन के दौरान कितनी सुंदर चर्चा होती रही। पूरे भेंट-मुलाकात के दौरान मुझे महसूस होता रहा कि छत्तीसगढ़ में कितने अलग-अलग तरह की खानपान की परंपरा है और कितने सारे व्यंजन है। बस्तर में अलग तरह की भाजियां, रायपुर में अलग तरह की भाजियां। पकवानों को बनाने का तरीका भी अलग-अलग। पूरी यात्रा के दौरान मुझे इस बात पर भी गर्व होता रहा कि आप लोगों ने पुरखों से सीखी हुई खानपान की परंपराएं कायम रखी हैं। हर जगह खाना इतना बढ़िया बनाया गया था कि मुझे लगा कि भोजन के दौरान मैं कहीं बाहर नहीं हूं। अपने घर में ही हूं।

Raipur News: The Chief Minister was whose guest, now the Chief Minister has become his host

मुख्यमंत्री की मेजबानी और अपनेपन से ग्रामीण हुए गदगद

भेंट-मुलाकात के दौरान बना रिश्ता रहेगा कायम-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने चर्चा में कहा कि कई बार मैं सोचता हूं कि खाने का स्वाद इस पर भी निर्भर करता है कि खिलाने वाला कितनी रुचि से और स्नेह से इसे बना रहा है। जब हर जगह स्वादिष्ट भोजन मुझे मिला तो मैंने यह भी महसूस किया कि लोग मुझसे कितना स्नेह करते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आप सभी से भेंट-मुलाकात के दौरान जो आत्मीय रिश्ता बना है। वो हमेशा कायम रहेगा। आप सभी मेरे परिवार के सदस्य हैं। इस मौके पर अतिथियों ने मुख्यमंत्री से कहा कि हमें तो यही लगा था कि हमें मुख्यमंत्री के साथ समय बिताने का एकमात्र अवसर मिल सका है। जब आपका आमंत्रण मिला तो बहुत खुशी हुई। आप हम सबका बहुत ध्यान रखते हैं। रायपुर संभाग से आए  अतिथियों के लिए विशेष तौर पर ऐसे पकवान तैयार किए गए थे, जो स्थानीय स्तर पर बहुत शौक से खाए जाते हैं। इसमें किस्म-किस्म की भाजी, चावल से बने हुए पकवान और तरह-तरह की चटनी आदि शामिल रही।

आज और कल इन संभाग के ग्रामीण बनेंगे सीएम के मेहमान

सरगुजा संभाग में मुख्यमंत्री ने जिन ग्रामीण परिवारों के साथ भोजन किया था, उन्हें भी उन्होंने दोपहर के भोजन के लिए 29 मई यानी आज आमंत्रित किया है। 30 मई मंगलवार को मुख्यमंत्री बस्तर संभाग के ऐसे ग्रामीणों के साथ भोजन करेंगे, जिनके घर उन्होंने भेंट-मुलाकात के दौरान भोजन किया था।

Continue Reading

ख़बर छत्तीसगढ़

NITI Aayog: गवर्निंग काउंसिल की बैठक में शामिल हुए CM बघेल, राज्यहित में रखी कई मांगें

Published

on

NITI Aayog: CM Baghel attended the Governing Council meeting

NITI Aayog: प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में नई दिल्ली में आयोजित नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की आठवीं बैठक में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल शामिल हुए। इस दौरान मुख्यमंत्री ने बैठक से संबंधित एजेंडा बिन्दुओं के अतिरिक्त राज्यहित से जुड़ी विभिन्न योजनाओं और विषयों पर अपनी बात रखी। बैठक के एजेंडे पर बात करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 2047 का विकसित भारत, टीम इंडिया की भूमिका पर कहा देश की एकता और अखंडता अक्षुण्ण बनाए रखने में राज्यों की अहम भूमिका है। उन्होंने कहा केंद्र सरकार राज्यों के अधिकारों का सम्मान करे और उसके हिस्से के संसाधनों को भी हस्तांतरित करने की प्रणाली को और मजबूत बनाए।

R.O. No. 12338/ 107

मुख्यमंत्री ने एनएमडीसी द्वारा राज्य में स्थित इकाइयों को 25-30 प्रतिशत आयरन ओर ही उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने समुचित आयरन ओर राज्य की इकाइयों के लिए उपलब्ध कराने का आग्रह किया। सीएम बघेल ने कहा छत्तीसगढ़ के एमएसएमई उद्योगों को एसईसीएल से विगत 2-3 वर्षों से राज्य की आवश्यकता अनुरूप कोल नहीं मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने इस विषय पर कार्यवाही कर छत्तीसगढ़ का हित सुरक्षित करने का आग्रह किया।

सीएम बघेल ने मीटिंग में 20 हजार से कम आबादी के शहरों में मनरेगा लागू करने का सुझाव भी दिया। मुख्यमंत्री ने रायपुर एयरपोर्ट से अंतर्राष्ट्रीय विमान सेवा शीघ्र शुरू करने व समन्वय हेतु नोडल अधिकारी की नियुक्ति का अनुरोध भी किया। बैठक में उन्होंने छत्तीसगढ़ के 10 आकांक्षी जिलों में सोलर पावर प्लांट की स्थापना के साथ ही 5 मेगावाट तक के सौर ऊर्जा संयंत्रों की स्थापना को हरित गतिविधियों के रूप में मान्य करते हुए वन संरक्षण अधिनियम के अंतर्गत वन व्यपवर्तन से छूट प्रदान करने की मांग की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं व शिशुओं की देखभाल के सभी कार्यक्रमों के लिए एकीकृत एमआईएस प्रणाली होनी चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने केंद्र प्रायोजित योजनाओं के तहत केंद्र-राज्य वित्त पोषण का हिस्सा 75ः25 करने का अनुरोध किया। इसके अलावा उन्होंने बैठक में नवीन पेंशन योजना में जमा 19 हजार करोड़ की राशि की वापसी का मुद्दा भी उठाया। वहीं, उन्होंने जीएसटी क्षतिपूर्ति अनुदान की भरपाई की मांग भी की। मुख्यमंत्री ने कहा कि जीएसटी कर प्रणाली से राज्यों को राजस्व की हानि हुई है। छत्तीसगढ़ जैसे उत्पादक राज्यों के राजस्व हानि की भरपाई की कोई स्थायी व्यवस्था अतिशीघ्र की जाये।

मुख्यमंत्री ने कहा केंद्रीय करों में राज्य का हिस्सा कम प्राप्त हो रहा है। उन्होंने 2659 करोड़ की राशि इस वित्तीय वर्ष में राज्य को उपलब्ध कराने की मांग की। मुख्यमंत्री बघेल ने खनिजों से मिलने वाली एडिशनल लेवी की 4 हजार 170 करोड़ राशि छत्तीसगढ़ को हस्तांतरण करने का आग्रह किया। वहीं, इस मामले में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा सर्वाेच्च न्यायालय में प्रस्तुत सिविल सूट याचिका में केंद्र सरकार की ओर से जल्द जवाब प्रस्तुत कर निराकरण करने का अनुरोध किया।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने कोयला एवं अन्य प्रमुख खनिजों की रॉयल्टी दरों में संशोधन की मांग की। उन्होंने कहा संशोधन नहीं होने से राज्य के वित्तीय हितों पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय बलों की तैनाती पर हुए सुरक्षा व्यय 11 हजार 828 करोड़ रुपए को केंद्र सरकार द्वारा वहन करते हुए राज्य को इस बकाया से मुक्त करने का आग्रह भी किया।

Continue Reading

ख़बर उत्तर प्रदेश

Gyanvapi Case: Shock to the Muslim side from the High Court, the case of regular worship of Shringar Gauri will continue Gyanvapi Case: Shock to the Muslim side from the High Court, the case of regular worship of Shringar Gauri will continue
ख़बर उत्तर प्रदेश11 hours ago

Gyanvapi Case: हाईकोर्ट से मुस्लिम पक्ष को झटका, श्रंगार गौरी की नियमित पूजा का केस चलता रहेगा

Gyanvapi Case: वाराणसी (Varanasi) के ज्ञानवापी मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने मुस्लिम पक्ष की याचिका खारिज कर...

UP News: Both accused of killing a soldier in Jalaun killed in encounter UP News: Both accused of killing a soldier in Jalaun killed in encounter
ख़बर उत्तर प्रदेश2 weeks ago

UP News: सिपाही की हत्या के दोनों आरोपी एनकाउंटर में ढेर, 10 मई की रात की थी हत्या

UP News(Jalaun Encounter): उत्तरप्रदेश के जालौन में 10 मई की रात ड्यूटी पर तैनात सिपाही की हत्या के दो आरोपियों को...

UP News: BJP's bumper victory in UP civic elections UP News: BJP's bumper victory in UP civic elections
ख़बर उत्तर प्रदेश3 weeks ago

UP News: यूपी को सिर्फ योगी पसंद है, प्रदेश की सभी 17 नगर निगमों पर लहराया भगवा झंडा

UP News: उत्तरप्रदेश के निकाय चुनावों में भाजपा को जिस तरह प्रचंड जीत मिली है, उससे एक बार फिर प्रदेश में...

UP News: Counting of votes continues in civic elections, BJP at the forefront UP News: Counting of votes continues in civic elections, BJP at the forefront
ख़बर उत्तर प्रदेश3 weeks ago

UP News: निकाय चुनाव में वोटों की गिनती जारी, बीजेपी सब पर भारी

UP Nikay Chunav Result 2023: यूपी में नगरीय  निकाय चुनावों की तस्वीर आज शाम तक पूरी साफ हो जाएगी। वोटों...

Gyanvapi: High Court's important order in the Gyanvapi case Gyanvapi: High Court's important order in the Gyanvapi case
ख़बर उत्तर प्रदेश3 weeks ago

Gyanvapi: ज्ञानवापी मामले में हाईकोर्ट का अहम आदेश, केस का टर्निंग प्वाइंट साबित हो सकता है फैसला

Gyanvapi Case: वाराणसी के ज्ञानवापी मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट (Allahabad High Court) ने अहम आदेश दिया है। हाईकोर्ट ने फैसला दिया...

Advertisement https://khabritaau.com/wp-content/uploads/2023/05/2F47E478-FF9F-45C8-BC12-FCE36568A76E.jpeg

RO NO. 12402/ 129

अभी तक की बड़ी खबरें

WEBSITE PROPRIETOR & EDITOR DETAILS

Editor/ Director :- Somesh Singh Senger
Web News Portal: Khabritaau.com
Website : www.khabritaau.com
Company : Khabritaau News
Publication Place: Raipur (CG), Bhopal (MP) & Lucknow (UP)
Email:- khabritaau@gmail.com
Mob: +91 6264 084 601

Trending